Monday, June 1, 2020

am and pm full form meaning in hindi | AM और PM की क्या फुल फॉर्म होती है

full form am and pm

हेल्लो दोस्तों!!
बहुत-बहुत स्वागत है आपका हमारी आज की इस पोस्ट में। आज हमारी पोस्ट का विषय है AM और PM का क्या मतलब होता है? AM और PM की क्या फुल फॉर्म होती है? इनका इस्तेमाल कहां किया जाता है और कैसे? आज की इस पोस्ट का विषय बहुत ही रोचक है क्योंकि इस विषय को लेकर हमेशा लोगों के मन में कुछ सवाल रहते हैं। अधिकांश लोगों को AM और PM की फुल फॉर्म के बारे में भी पता नहीं होता। अक्सर लोग AM और PM के इस्तेमाल में गलतियां करते हैं। इन दोनों का मतलब एक दूसरे से बिल्कुल अलग है लेकिन कभी-कभी हम दोनों का मतलब उल्टा समझ लेते है।
दोस्तों आपने मोबाइल या कंप्यूटर में कभी ना कभी टाइम सेट जरूर किया होगा। टाइम सेट करने के ऑप्शंस में आपने AM और PM का ऑप्शन भी जरूर देखा होगा। जैसा कि हम जानते हैं कि 1 दिन में 24 घंटे होते हैं जिसे आजकल की घड़ियों में दो तरह के फॉर्मेट में बांटा गया है, जिनमें से एक होता है 12 hour format और दूसरा होता है 24 hour format
क्या आप जानते हैं कि इन दोनों फॉर्मेट में से AM और PM का इस्तेमाल कहां होता है एवं कैसे होता है? अगर नहीं तो आज हम इसी सवाल का जवाब देने जा रहे हैं। आज हम AM और PM से जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी आप तक पहुंचाएंगे। इससे जुड़े जितने भी सवाल है सभी के जवाब आपको इस पोस्ट में मिलेंगे। तो अंत तक इस पोस्ट को पढ़ते रहिएगा। तो आइए दोस्तों सबसे पहले जानते हैं की AM और PM की फुल फॉर्म क्या होती है।

ये भी पढ़ें :
Full form of WHO
CBI ka full form

AM और PM कि Full Form क्या होती है?

अगर AM और PM इन दोनों शब्दों की बात करें तो यह दोनों शब्द लेटिन भाषा से लिए गए हैं। जहां am meaning in hindi होता है Ante meridian (एंटी मेरिडियन)। यह शब्द आपको पढ़ने में थोड़ा अजीब लग रहा होगा क्योंकि यह अंग्रेजी भाषा का शब्द नहीं है बल्कि यह लेटिन भाषा से लिया गया है। यह सामान्यतः दोपहर के पहले के समय को दर्शाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
वही pm meaning in hindi होता है Post meridian (पोस्ट मेरिडियन) जो कि सामान्यतः दोपहर के बाद के समय को दर्शाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। तो  अब आप जान गए होंगे कि AM और PM की क्या फुल फॉर्म होती है। अब अगर आपसे कोई पूछे कि am और pm की फुल फॉर्म क्या होती है, तब आप जल्दी से बता पाएंगे। लेकिन फुल फॉर्म जान लेना काफी नहीं। आज भी जब कोई समय के साथ लिखे am और pm को देखता है तो उसे असमंजस होती है कि आखिर इन दोनों शब्दों का क्या मतलब होता है एवं इनमें क्या अंतर है। तो आज चलिए जानते हैं कि am और pm का क्या मतलब होता है।

AM और PM का क्या मतलब होता है?


दोस्तों हम सभी को यह बात पता है कि दिन के 24 घंटे के समय को दो भागों में बांटा गया है। अब अगर बात करें AM की तो हम जानते हैं कि इसकी फुल फॉर्म होती है एंटी मेरिडियन। इस शब्द का अंग्रेजी में अर्थ होता है Before noon यानी कि दोपहर से पहले का समय AM से दर्शाया जाता है। रात के 12 बजे से लेकर दोपहर के 12 बजे के बीच के समय को AM लिखकर बताया जाता है। तो अगर हमें सुबह के 10 बजे का समय किसी को बताना है तो हम उसे कहेंगे 10 AM।
वहीं दूसरी ओर अगर बात करें PM की तो जैसा कि हमने आपको पहले बताया इसकी फुल फॉर्म होती है पोस्ट मेरिडियन। इस शब्द का अंग्रेजी में अर्थ होता है After noon यानी कि दोपहर के बाद का समय PM से दर्शाया जाता है। दोपहर के 12 बजे से लेकर रात के 12 बजे के बीच के समय को PM लिखकर बताते हैं। अगर हमें रात के 10:00 बजे का समय किसी को बताना है तो हम उसे कहेंगे 10:00 pm।
आइए एक और उदाहरण के माध्यम से समझते हैं:--
9 am: इसका मतलब हुआ सुबह के 9:00 बजे का समय।
9 pm: इसका मतलब हुआ रात के 9:00 बजे का समय।
हम उम्मीद करते हैं कि अब आपको am और pm के बीच का अंतर समझ आ गया होगा। और अब आप समझ गए होंगे कि आपको कब am का इस्तेमाल करना है और कब pm का इस्तेमाल करना है।

AM और PM का इस्तेमाल किस फॉर्मेट में होता है?

जैसा कि हम सभी जानते हैं की 1 दिन को 24 घंटों में बांटा गया है। दुनिया भर में जितनी भी घड़ियां है उनमें दो तरह के फॉर्मेट का इस्तेमाल किया जाता है। 12 hour format और 24 hour format। इन दोनों फॉर्मेट में से 12 हावर फॉरमैट में am और pm का इस्तेमाल किया जाता है। रात के 12 बजे से लेकर दिन के 12 बजे के इन 12 घंटों के लिए AM लिखकर दर्शाते हैं। वहीं दोपहर के 12 बजे से लेकर रात के 12 बजे तक के लिए PM लिखकर दर्शाते हैं। इस तरह दिन के 24 घंटे पूरे होते हैं। चलिए अब जानते हैं की am और pm का क्या इतिहास है। व इसे किसने शुरू किया एवं सबसे पहले कहां शुरू किया गया।

AM और PM का इतिहास


क्या आप जानते हैं की मानव जाति ने घड़ी का इस्तेमाल बहुत पहले ही कर लिया था। लेकिन इसमें और नए-नए विकास होते गए ताकि हमें समय का पता लगाने में कोई दिक्कत ना हो। पहले के समय में दिन के कितने बजे हैं यह बात पता लगाने के लिए सूर्य की स्थिति का इस्तेमाल करके वह छाया की लंबाई को देखते हुए समय का अंदाजा लगाया जाता था। वहीं रात के समय का पता लगाने के लिए चंद्रमा की स्थिति को देखकर अंदाजा लगाया जाता था। लेकिन जब से घड़ी का आविष्कार हुआ है समय का पता लगाना काफी ज्यादा आसान हो गया है।
कहते हैं कि सबसे पहले मिस्र के लोगों ने 12 की संख्या का इस्तेमाल करते हुए दिन के अंतराल को 24 बराबर हिस्सों में बांटा था। 14 वीं शताब्दी में पहली मैकेनिकल घड़ी का आविष्कार हुआ था, जिसमें 12 घंटे की प्रणाली से वह चलती थी। यूरोप में 12 हावर फॉर्मेट की इस घड़ी में रोमन भाषा में 1 से 12 तक की संख्या लिखी होती थी। 15वीं व 16वीं शताब्दी की अवधि के दौरान धीरे-धीरे इस 12 घंटे की प्रणाली वाली घड़ी का इस्तेमाल पूरे यूरोप में होने लगा। तब कुछ विशेष एप्लीकेशन या खगोलीय घड़ियों में ही 24 आवर फॉरमैट का इस्तेमाल किया जाता था। उसके बाद धीरे-धीरे नए नए उपकरणों एवं तकनीक का विकास होता गया, जिससे कि हमें समय का पता लगाने में और ज्यादा सहूलियत होने लगी। आज हम जब भी चाहे समय का सटीक पता लगा सकते हैं। आज की सबसे आधुनिक घड़ी जिसे की डिजिटल क्लॉक कहते हैं वह समय का बिल्कुल सटीक पता लगाती है एवं इसमें 12 घंटे की समय प्रणाली का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें am और pm का विकल्प भी होता है।

कौनसे देश में AM और PM सिस्टम है?

दुनिया में ऐसे कई सारे देश है जहां 12 hour format के साथ-साथ a.m. और p.m. सिस्टम इस्तेमाल में लिया जाता है। इनमें ज्यादातर वे देश है जो पहले ब्रिटिश साम्राज्य का हिस्सा थे, उनमें am और pm का इस्तेमाल होता है। इन देशों में भारत, पाकिस्तान, यूनाइटेड किंग्डम, यूनाइटेड स्टेट्स जैसे देश भी शामिल है। इन देशों में काफी समय पहले से ही am और pm का इस्तेमाल होता आ रहा है। वहीं दूसरी ओर मैक्सिको, मलेशिया, मिश्र एवं फिलिपिंस में काफी समय बाद am और pm का चलन शुरू हुआ। इतना ही नहीं दुनिया के ऐसे और भी कई देश है जहां am और pm सिस्टम चलता है।

AM और PM सिस्टम की कमियां


हालांकि am और pm सिस्टम का इस्तेमाल दुनिया के काफी देशों में होता आ रहा है। एवं आज की आधुनिक घड़ियों में भी इसका इस्तेमाल होता है। लेकिन फिर भी इस सिस्टम में कुछ कमियां हैं। दोस्तों आपके दिमाग में भी कभी ना कभी यह प्रश्न जरूर आया होगा कि आखिर दिन के 12 बजे के लिए AM लिखना चाहिए या PM लिखना चाहिए? दिन की 12 बजे को दोपहर से पहले गिना जाए या दोपहर के बाद का समय गिना जाए?। इस स्थिति से बचने के लिए एक तरीका है कि हम दिन के 12 बजे के लिए 12 Noon लिखें और रात के 12 बजे के लिए 12 Midnight लिखें। तो दोस्तों अब आपके इस कन्फ्यूजन का समाधान हो गया होगा। हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको समझ आ गई होगी।

निष्कर्ष:--

तो दोस्तों यह थी AM और PM से जुड़ी पूर्ण जानकारी। आज इस पोस्ट में हमने आपको AM और PM का क्या मतलब होता है इसके बारे में बताया। साथ ही हमने am और pm की फुल फॉर्म, am और pm का इतिहास, इसे कहां इस्तेमाल किया जाता है, सभी बातों के बारे में जाना। अगर इस पोस्ट की जानकारी से आपके डाउट क्लियर हुए हो और यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो इसे आप अपने दोस्तों के साथ भी अवश्य शेयर करें। ताकि वह भी इस जानकारी का लाभ उठा सकें। अगर इस पोस्ट full form am and pm से जुड़ी कोई बात आपको समझ में ना आई हो तो आप हमें अपना सवाल नीचे दिए कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। मिलते हैं दोस्तों इसी तरह की कुछ और नई एवं रोचक जानकारी लिए हुए हमारी अगली बेहतरीन पोस्ट में, धन्यवाद।
Disqus Comments