Monday, June 8, 2020

Full form of WHO in hindi | WHO का फुल फॉर्म

Full form of WHO

हेल्लो दोस्तों!!
आज इस पोस्ट में हम जानेंगे WHO के बारे में। इस पोस्ट में हम WHO से जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी आप तक पहुंचाएंगे। इसमें हम आपको WHO ka full form के साथ यह भी बताएंगे कि डब्ल्यूएचओ क्या है? इसका हेड क्वार्टर्स कहां स्थित है? उसके अध्यक्ष कौन है? यह क्या काम करता है? एवं उसके उद्देश्य क्या क्या है? दोस्तों वैसे तो कई लोग WHO के बारे में पहले से जानते हैं लेकिन आज की हमारी पोस्ट पढ़कर आपको कुछ ना कुछ नई जानकारी अवश्य मिलेगी। तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहिएगा।
दोस्तों अगर आसान सी भाषा में समझें तो WHO एक ऐसा संगठन है जो लोगों के स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए कार्य करता है। इसका मुख्य काम लोगों की स्वास्थ्य को बेहतर करने का है। साथ ही WHO ने अब तक बहुत सी गंभीर बीमारियों को पहचान कर एवं उसके इलाज के लिए काफी काम किया है जिससे कि लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा की जा सके। इतना ही नहीं यह संगठन गंभीर से गंभीर बीमारियों के फैलने को रोकने के लिए भी कार्य करता है। डब्ल्यूएचओ क्या है यह जानने से पहले आइए जानते हैं कि आखिर WHO की फुल फॉर्म क्या है?

ये भी पढ़ें :
Am Pm full form
CBI ka full form

Full form of WHO in hindi

WHO की फुल फॉर्म है World Health organization। वहीं अगर बात करें हिंदी में तो WHO की फुल फॉर्म है विश्व स्वास्थ्य संगठन। जैसा कि इसकी फुल फॉर्म से ही पता चलता है कि यह एक ऐसा संगठन है जो संपूर्ण विश्व के स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए निरंतर कार्य करता है।

WHO की स्थापना कब की गई?

WHO की स्थापना यूनाइटेड नेशन द्वारा 7 अप्रैल, 1948 में की गई थी। इसका निर्माण यूनाइटेड नेशन द्वारा एक एजेंसी के रूप में किया गया था जिसका कार्य था लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर करना।

WHO का मुख्यालय कहां स्थित है?


WHO का मुख्यालय स्वीटजरलैंड देश के जिनेवा नामक शहर में स्थित है। वैसे आपको बता दें कि विश्व भर में लगभग 150 देशों में उसके कार्यालय हैं। भारत में WHO का मुख्यालय देश की राजधानी दिल्ली में है। आइए अब थोड़ा और विस्तार से जानते हैं कि WHO क्या है।

WHO क्या है?

विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूनाइटेड नेशन द्वारा बनाई गई एक एजेंसी है जो कि विश्व भर के लोगों के स्वास्थ्य को और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए काम करता है। यह 7 अप्रैल, 1948 में बनाया गया था। WHO का हेड क्वार्टर्स यानी कि मुख्यालय स्विट्ज़रलैंड देश के जिनेवा शहर में स्थित है। इस संगठन में कई सारे देश शामिल हैं जिसमें से भारत भी संगठन का एक सदस्य है एवं भारत में WHO का मुख्यालय भारत की राजधानी दिल्ली में है।
दोस्तों हम सभी जानते हैं कि हमारा स्वास्थ्य कितना ज्यादा महत्वपूर्ण है। हमने अपने बड़े बुजुर्गों द्वारा कहते हुए सुना है कि स्वास्थ्य ही सबसे बड़ी पूंजी है। वाकई में यह सच है दोस्तों, क्योंकि अगर हमारे पास अच्छा स्वास्थ्य है तो हम मेहनत करके दुनिया की हर चीज पा सकते हैं। लेकिन अगर हमारा स्वास्थ्य ही हमारे साथ नहीं है तो सारी दुनिया का आराम हमारे पास होते हुए भी हम उनका आनंद नहीं ले सकते। हर इंसान की एक ही ख्वाहिश होती है कि वह हमेशा स्वस्थ रहे। उसे कोई बीमारी ना छू पाए। लेकिन ऐसा हर दफा नहीं होता। हम कई तरह के कारणों की वजह से बीमार पड़ते हैं और कभी-कभी इतनी गंभीर बीमारी से ग्रसित हो जाते हैं कि हमारे पास उस बीमारी का इलाज कराने के लिए आर्थिक स्थिति भी इतनी अच्छी नहीं होती।
हमारे देश में एक बड़ा हिस्सा उन लोगों का है जो दो वक्त की रोटी कमाने के लिए दिनभर कार्य करते हैं। ऐसे में अगर यह लोग बीमार पड़ जाए तो इनके पास इलाज करवाने के लिए भी पैसे नहीं होते और पूरा जीवन इनको संघर्ष में गुजारना पड़ता है। डब्ल्यूएचओ ऐसे लोगों के लिए भी कार्य करता है एवं उन्हें पूरी सहायता भी देता है। आपकी अधिक जानकारी के लिए बता दें कि विश्व का सबसे बड़ा ब्लड बैंक WHO के पास है।

WHO का उद्देश्य क्या है?


WHO का उद्देश्य है विश्व भर के लोगों की स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाकर उन्हें बढ़ावा देना, व साथ ही लोगो के स्वास्थ के स्तर को ऊंचा करना। इसका मुख्य उद्देश्य है विश्व भर में स्वास्थ्य व्यवस्था को बनाए रखना।
WHO की जितनी प्रशंसा की जाए उतनी कम है। क्योंकि यह हमारे स्वास्थ्य की रक्षा करता है और हम ही जानते हैं कि हमारे स्वास्थ्य का कितना ज्यादा महत्व है। अब तक WHO ने कई सारी गंभीर बीमारियों को पहचान कर उनको रोकने के लिए काफी अथक प्रयास किए हैं। इन बीमारियों में चेचक, हैजा, टीबी, मलेरिया, पोलियो, डेंगू जैसी जानलेवा बीमारियां शामिल है। ऐसा नहीं है कि यह संगठन केवल बच्चों या फिर केवल बूढ़ों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए कार्य करता है, बल्कि यह हर उम्र के लोगों के लिए काम करता है। विश्व भर के लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का प्रयास यह संगठन करता ही रहता है। साथ ही यह संगठन इस बात को भी सुनिश्चित करता है कि कोई भयावह बीमारी दुनिया में न फैल जाए।

WHO के कार्य?

दोस्तों डब्ल्यूएचओ हम सबकी जिंदगी की रक्षा करता है। इसकी जरूरत का पता हम इस बात से लगा सकते हैं कि यह हमें गंभीर और जानलेवा बीमारियों से बचाता है। WHO के बिना इस विश्व की कल्पना करना थोड़ा कठिन लगता है, क्योंकि WHO ने अब तक हमें कई बीमारियों से बचाया है। आप जरा सोच कर देखिए कि अगर आज भी पोलियो जैसी बीमारी का खतरा बना रहता तो क्या हम इस खतरे के साथ अपना पूरा जीवन बिता पाते? जरा सोचिए कि मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारियों का इलाज अगर हमें नहीं मिलता तो क्या हम अपने बच्चों को एक स्वस्थ जीवन देने की कल्पना भी कर पाते? आप सभी जानते हैं कि इन प्रश्नों का जवाब क्या है। अगर WHO नहीं होता तो हम हमेशा किसी भी बीमारी के आ जाने के खतरे में जी रहे होते। यह संगठन हमें इसी प्रकार की स्वास्थ्य से जुड़ी मुश्किलों से बचाता है एवं यह सुनिश्चित करता है कि हम एक खुशहाल जिंदगी जिए।
WHO ने विश्व भर में लोगों के स्वास्थ्य को और बेहतर करने के लिए कई सारे कदम उठाए हैं एवं कई तरह की पहल शुरू की है।  WHO द्वारा समय-समय पर अलग अलग अभियान, कार्यक्रम एवं स्वास्थ्य से जुड़े अलग-अलग आयोजन किए जाते हैं। WHO के जितने भी अधिकारी हैं वह हमेशा इसी बात की समीक्षा करते हैं कि दुनिया में ज्यादा से ज्यादा लोगों के स्वास्थ्य में सुधार लाया जा सके। एवं उन्हें स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करके उनकी सहायता की जा सके। किसी गंभीर बीमारी की चपेट में आने के बाद WHO द्वारा विभिन्न देशों को फंड भी दिया जाता है ताकि वह बीमारी से जंग जीत सकें। यह संगठन किसी न किसी रूप में हर देश की सहायता करता है।
संगठन के द्वारा प्रतिवर्ष 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है जो कि इस संगठन का स्थापना दिवस है। यह संगठन विश्व स्वास्थ्य पर अपनी एक रिपोर्ट भी प्रकाशित करता है जो स्वास्थ्य विषय पर किया जाने वाला एक महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय प्रकाशन है।

WHO के अनुसार स्वास्थ्य की परिभाषा क्या है?


WHO के अनुसार स्वास्थ्य वह स्थिति है जिसमें व्यक्ति शारीरिक, मानसिक एवं सामाजिक रूप से स्वस्थ हो,  न कि केवल किसी बीमारी या पीड़ा का ना होना। अर्थात अगर कोई व्यक्ति शारीरिक रूप से स्वस्थ है उसे कोई बीमारी नहीं है, वह मानसिक रूप से भी स्वस्थ है उसे कोई तनाव या चिंता परेशानी नहीं है इसके साथ ही वह सामाजिक रूप से भी स्वस्थ है तभी उसे स्वस्थ माना जाएगा। केवल किसी बीमारी का ना होना स्वास्थ्य नहीं माना जाता।

WHO की प्राथमिकताएं क्या है?

WHO के अधिकारी समय-समय पर संगठन की नेतृत्व की प्राथमिकताएं सुनिश्चित करते रहते हैं। डब्ल्यूएचओ की प्राथमिकताएं निम्न है:--
*विश्व भर के लोगों का एक स्वस्थ भविष्य का निर्माण करना जिसमें सभी लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलें।
*विश्व भर के लोगों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए कार्य करना। इसमें बच्चे, बूढ़े, महिला, पुरुष सभी को स्वास्थ सेवाएं देना शामिल है।
* इसके सभी कार्यों में मुख्य कार्य है पोषण, आवास, और स्वच्छता में सुधार करना ताकि लोगों का स्वास्थ्य अच्छा बना रहे।
*यह संगठन इस बात को सुनिश्चित करता है कि लोगों को अच्छी से अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं एवं उच्च गुणवत्ता वाली दवाइयां मुहैया की जाए। और जहां भी जरूरत हो वहां चिकित्सा सेवाओं को ज्यादा से ज्यादा लोगों की पहुंच में लाया जाए।
*विश्व के हर देश के लोगों को गंभीर बीमारियों जैसे कि एचआईवी एड्स, डेंगू, मलेरिया, पोलियो, टीवी, ईबोला जैसी खतरनाक बीमारियों से बचाए। इन बीमारियों की रोकथाम के लिए WHO दवाइयां एवं टीका बनाने की दिशा में भी कार्य करता है।
*यह संगठन स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं को ही नहीं सुलझाता बल्कि अन्य समस्याएं जैसे कि अशिक्षा, गरीबी, भुखमरी, महिलाओं से भेदभाव, पर्यावरण प्रदूषण जैसी समस्याओं को हल करने में भी हमेशा आगे रहता है एवं इसमें भी अपना बेहतर प्रदर्शन करता है।
*विश्व भर में WHO के 150 देशों में कार्यालय हैं जो लोगों की अच्छी हेल्थ के लिए निरंतर काम कर रहे हैं। WHO का हेड क्वार्टर यानी कि मुख्यालय स्विट्ज़रलैंड के जिनेवा शहर में है, वहीं अगर भारत की बात की जाए तो WHO का मुख्यालय दिल्ली में स्थित है।
*यह संगठन ऐसे देशों की पहले मदद करता है जो स्वास्थ्य से संबंधित सार्वभौमिक स्वास्थ्य के प्रति अपनी अच्छी भावना रखते हैं।

WHO के महानिर्देशक कौन है?


WHO के डायरेक्टर जनरल यानी कि महानिर्देशक के कार्यकाल की अवधि 5 साल की रहती है। डब्ल्यूएचओ के महानिर्देशक वर्ल्ड हेल्थ असेंबली द्वारा चुने जाते हैं। अभी वर्तमान की बात करें तो डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक Tedros Adhanom Ghebreyesus हैं जो 1 जुलाई, 2017 को चुने गए। इस संगठन में करीब आठ हजार से ज्यादा लोग कार्य करते हैं जो दुनिया के 150 देशों में फैले हुए हैं। इस संगठन की एक बहुत अच्छी बात यह है कि इस संगठन में काम करने वाला एक भी व्यक्ति किसी भी प्रकार का कोई नशा जैसे कि सिगरेट पीना, तंबाकू खाना ऐसे किसी नशे में लिप्त नहीं है। यह संगठन वाकई अपने व्यवहार से इस बात की ओर इशारा करता है कि स्वास्थ्य सबसे जरूरी है। कहा भी जाता है कि Health comes first यानी कि स्वास्थ्य सबसे पहले आता है।

निष्कर्ष:--

तो दोस्तों आज इस पोस्ट में हमने जाना WHO के बारे में, full form of WHO, WHO का मुख्यालय कहां स्थित है, आदि सभी जानकारी। हम उम्मीद करते हैं कि अब WHO से संबंधित आपके सभी प्रश्नों के उत्तर आपको मिल गए होंगे एवं इस पोस्ट से आपकी मदद हुई होगी। दोस्तों अब आप जान गए होंगे कि डब्ल्यूएचओ कितना अच्छा कार्य कर रहा है। अगर आज के इस पोस्ट की जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो आप हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स में जरुर लिखकर बताएं। अगर आपका कोई सवाल है तो वह भी आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। मिलते हैं दोस्तों इसी तरह की कुछ और जानकारी लिए हमारी अगली बेहतरीन पोस्ट के साथ, धन्यवाद।
Disqus Comments