Saturday, July 18, 2020

Kalonji ka fayda | कलोंजी के फायदे bahut gunkaari hai

Kalonji ka fayda


हेल्लो दोस्तों!!
हमारी वेबसाइट All hindi tip पर आपका बहुत-बहुत स्वागत है। आज फिर से हम एक पोषण से भरपूर खाद्य पदार्थ के बारे में जानकारी देंगे। आज इस पोस्ट में हम जानेंगे Kalonji ka fayda। दोस्तों हो सकता है कि आपने कलौंजी का नाम पहली बार सुना हो और आपको इसके बारे में बहुत कम जानकारी हो। लेकिन इसमें चिंता की कोई बात नहीं है, आज हम आपको कलौंजी से जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी देंगे जिससे आपको इसके फायदे के बारे में भी पता चलेगा। दोस्तों Kalonji ke fayde बहुत सारे हैं।
कलौंजी हमारे पूरे शरीर के लिए लाभदायक है। यह त्वचा को निखारती है, बालों को मजबूत बनाती है। यह हमारी स्मरण शक्ति, आंखों की रोशनी, सिर दर्द, किडनी से जुड़ी बीमारियां सभी को ठीक करती है। इतना ही नहीं यह डायबिटीज में भी कारगर साबित होती है। आधुनिक विज्ञान एवं मेडिकल साइंस ने भी माना है कि यह कैंसर के खतरे को भी कम करती है और इसकी मदद से ह्रदय से जुड़ी बीमारियों से भी बचा जा सकता है। तो दोस्तों अगर कलौंजी के इतने सारे फायदे हैं तो आपको इसके बारे में और अधिक विस्तार से जानना चाहिए। तो आइए दोस्तों अब थोड़ी डिटेल में जानते हैं kalonji ke fayade hindi mein कि कलौंजी क्या है? और कलौंजी के फायदे क्या है?

ये भी पढ़ें :
Pimple kaise hataye
ICU ka full form

कलौंजी क्या है?


दोस्तों कलौंजी को वैज्ञानिक भाषा में Nigella sativa कहते हैं और यह एक प्रकार का बीज होता है जिसका पेड़ लगभग 12 इंच तक लंबा होता है। मूल रूप से दक्षिण-पश्चिम एशिया में पाया जाने वाला यह पेड़ ज्यादातर कई पकवानों में एक स्वाद बढ़ाने वाले मसाले के रूप में प्रयोग में लिया जाता है। दरअसल कलौंजी उसके पेड़ पर लगे हुए फल के बीज होते हैं जिसे कलौंजी का पौधा या फिर काले बीज जैसे विभिन्न नामों से भी जाना जाता है। दक्षिण-पश्चिमी एशिया में आने वाले देश जैसे कि भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के लोग सदियों से ही कलौंजी का इस्तेमाल करते आ रहे हैं। आयुर्वेद में इसे एक औषधि का दर्जा दिया गया है और लगभग 2000 वर्षों से कलौंजी का इस्तेमाल कई प्रकार की दवाओं को बनाने में किया जा रहा है।
कलौंजी में कई सारे पोषक तत्व होते हैं जो इसे एक औषधि का दर्जा देते हैं। इन पोषक तत्वों में आयरन, सोडियम, पोटेशियम, फाइबर, कैल्शियम और न जाने कितने सारे मिनरल होते हैं। इतना ही नहीं दोस्तों आपको जानकर हैरानी होगी की लगभग 15 एमिनो एसिड कलौंजी में पाए जाते हैं जो शरीर के लिए आवश्यक प्रोटीन की कमी को पूरा करते हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल, anti-inflammatory गुण होते हैं जो कि हमें विभिन्न तरह के बीमारियों से बचाते हैं।
कलौंजी का तेल भी बनाया जाता है जो कि एक बहुत ही अच्छा anti-oxidant माना जाता है। इसका तेल ब्लड प्रेशर को कम करता है एवं श्वसन को ठीक बनाए रखता है और यह तेल कॉलेस्ट्रोल को भी घटाता है। आइए अब जानते हैं कि कलौंजी किस तरह हमारे शरीर के अलग-अलग अंगों को ठीक करने का काम करती है और हमें अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करती हैं। आइए जानते हैं कलौंजी के फायदे।

Kalonji ka fayda

दोस्तों आज हम आपको कलौंजी के सभी फायदों के बारे में बताएंगे। साथ ही यहां हमने विभिन्न अंगों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए कलौंजी का किस तरह उपयोग करना है उसकी विधि भी दी है। नीचे दिए गए उपचारों को करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श लेकर ही इन प्रयोगों को करें।

1. स्मरण शक्ति बढ़ाए


जैसा कि हम सभी जानते है की युवाओं के मुकाबले बुजुर्गों में याददाश्त कम हो जाने की शिकायत होने लगती है क्योंकि जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे हमारा दिमाग थोड़ा कमजोर होने लगता है जिसकी वजह से हम पुरानी बातें याद नहीं रख पाते हैं। कलौंजी के नियमित उपयोग करने से आपकी स्मरण शक्ति बढ़ती है। इतना ही नहीं इसका उपयोग करने से याददाश्त बढ़ाई भी जा सकती है।

प्रयोग विधि

कलौंजी को शहद में मिलाकर लेने से याददाश्त बढ़ती है। वहीं बच्चों ओर युवाओं को गर्म पानी के साथ कलौंजी का सेवन कराने से अस्थमा ठीक हो जाता है। लेकिन असरदार परिणाम पाने के लिए इसका कम से कम 1 से 2 महीने तक सेवन करना चाहिए।

2. त्वचा की रंगत निखारें

कलौंजी आपके त्वचा से जुड़े रोगों को भी ठीक करने में मददगार है। यह चेहरे पर हो रहे कील, मुंहासे, फोड़े फुंसी जैसे परेशानियों से बचाती है और आपको दमकती हुई त्वचा प्रदान करती है। इसका नियमित उपयोग करने से त्वचा साफ सुथरी और दाग रहित होकर उज्जवल हो जाती है। कलौंजी का उपचार केवल एक बार करने से ही आपकी चेहरे में अलग ही चमक दिखाई देने लगती हैं।

प्रयोग विधि

कलौंजी और शहद को मिलाकर पेस्ट बनाएं तथा इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं। थोड़ी देर बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। आपके चेहरे की रंगत निखर जाएगी। अगर आपको चेहरे पर मुहांसो की शिकायत है तो आप कलौंजी को सेब के सिरके के साथ मिलाकर प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं, और 10 से 15 मिनट बाद धो लें। अगर आपकी त्वचा बहुत ज्यादा रूखी है तो कलौंजी के पाउडर को तिल के तेल में मिलाकर लगाने से रूखी त्वचा में यह जान डाल देती है।

3. मजबूत बाल

आजकल केवल महिलाओं में ही नहीं बल्कि पुरुषों में भी बाल झड़ने की समस्या बहुत ही आम हो गई है। गलत जीवनशैली और गलत खानपान के चलते आज बाल झड़ना बहुत ही सामान्य बात हो चुकी है। बाल झड़ने की समस्या मुख्यतः खानपान में पोषक तत्व की कमी से ही होती है। कलौंजी में कई सारे मिनिरल्स और एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो हमें हमारे शरीर को जरूरी पोषण देते हैं व इसके एंटीमाइक्रोबियल्स गुण हमारे बालों की जड़ों को मजबूत करते हैं।

प्रयोग विधि

बालों को मजबूत बनाने के लिए लिए रोजाना कलौंजी के तेल से बालों की जड़ों में मालिश करें। साथ ही कलौंजी के पाउडर से बनाया गया पेस्ट भी बालों की जड़ों में लगाने से बालों की जड़ों को जरूरी पोषण मिलता है और वे मजबूत बनती हैं।

4. स्वस्थ ह्रदय


ह्रदय से जुड़ी बीमारियां भी आजकल किसी भी उम्र के व्यक्ति को होने लगी है। पहले यह बीमारियां केवल ज्यादा उम्र वाले लोगों में ही देखने को मिलती थी। कलौंजी हमारे हृदय के लिए बहुत ही लाभदायक है। यह हमारी ह्रदय की धमनियों में जम रहे कोलेस्ट्रोल को घटाती है और हमें स्वस्थ ह्रदय का उपहार देती है।

प्रयोग विधि

इसे उपयोग करने के लिए एक चम्मच बकरी के दूध में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर नियमित 10 से 15 दिन पीने से ह्रदय से जुड़ी बीमारियों को जड़ से खत्म किया जा सकता है।

5. कैंसर से लड़े

दोस्तों पहले के जमाने में कैंसर जैसी बीमारी का नाम भी लोगों ने नहीं सुना था। लेकिन आज हमारे हर खाने पीने की वस्तुओं में न जाने कितने केमिकल्स होते हैं हम इस बात का अंदाजा भी नहीं लगा सकते। इसकी वजह से हमारे शरीर में ट्यूमर बनने लगता है और वह धीरे-धीरे फैलकर कैंसर का रूप ले लेता है। कलौंजी ट्यूमर को बढ़ने से रोकने में काफी कारगर है और यह कैंसर के खतरे को भी कम करती है।

प्रयोग विधि

कैंसर की फर्स्ट स्टेज में व्यक्ति को एक चम्मच कलौंजी का तेल एक गिलास अंगूर के रस के साथ दिन में तीन बार देने से शुरुआती दौर में बढ़ रहा कैंसर जड़ से खत्म भी हो सकता है।
इसके साथ ही यह ब्लड कैंसर, आंतों और गले के कैंसर को भी खत्म करती है। ब्रेस्ट कैंसर में भी यह काफी लाभदायक सिद्ध होती है।

6. आंखो की ज्योति बढ़ाएं


नेत्र संबंधी विकार आजकल किसी भी उम्र के व्यक्ति को होने लगे हैं। आपने देखा होगा कि 8 से 10 साल के बच्चे को भी चश्मा लग जाता है। ऐसे में आंखों की ज्योति को बढ़ाने में तथा आंखों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए नियमित कलौंजी के तेल का सेवन करना चाहिए। इसका इस्तेमाल करने से आंखों में लालपन, आंखो का दुखना, मोतियाबिंद, आंखों से पानी निकलने की समस्या भी ठीक हो जाती है।

प्रयोग विधि

इसका सेवन करने के लिए दो चम्मच कलौंजी के तेल को एक गिलास गाजर के जूस के साथ रोजाना सुबह शाम पिएं।

7. मधुमेह से बचाएं

जिन लोगों को डायबिटीज की शिकायत है उनके लिए कलौंजी का सेवन करना बहुत ही अच्छा माना जाता है। मधुमेह जैसी बीमारी को ठीक करने के लिए कलौंजी का तेल सबसे कारगर माना जाता है। मधुमेह रोगी को कलौंजी के तेल का सेवन रोजाना करना चाहिए। इससे मधुमेह रोगियों के स्वास्थ्य में सुधार होता है और मधुमेह को पूर्ण रूप से खत्म भी किया जा सकता है।

प्रयोग विधि

मधुमेह को ठीक करने के लिए रोजाना आधा चम्मच कलौंजी तेल को एक कप काली चाय में मिलाकर सुबह-शाम पीना चाहिए।

8. वजन घटाए


अगर आप भी अपने बड़े हुए मोटापे से परेशान हैं और आप हर उपाय कर चुके हैं तो एक बार आपको कलौंजी का उपाय जरूर करना चाहिए क्योंकि कलौंजी वजन घटाने में भी बहुत ही ज्यादा कारगर है। इसका 15 दिन भी सेवन करने से आपको अपने वजन में कमी नजर आएगी।

प्रयोग विधि

वजन घटाने के लिए आधा चम्मच कलौंजी के तेल और दो चम्मच शहद को गुनगुने पानी के साथ लें। जल्दी परिणाम पाने के लिए यह प्रयोग दिन में 3 बार करें।
दोस्तों यह थे कलौंजी से होने वाले फायदे। लेकिन दोस्तों इन फायदों के साथ हम आपको कलौंजी से होने वाले नुकसान के बारे में भी जानकारी देना चाहते हैं ताकि इसका ज्यादा उपयोग करने से आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर ना पड़े।

Kalonji ke nuksaan


नीचे दी गई स्थितियों में कलौंजी का इस्तेमाल भूलकर भी ना करें अन्यथा यह आपके शरीर को लाभ पहुंचाने के बजाय उल्टा नुकसान भी दे सकती है।

  1. आमाशय से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या होने पर या आमाशय में जलन होने पर कलौंजी का इस्तेमाल बिल्कुल भी ना करें।
  2. यह ब्लड प्रेशर को कम करती है इसलिए हाई ब्लड प्रेशर की दवाओं का सेवन करते समय इसका उपयोग ना करें।
  3. यह बहुत ज्यादा गर्म प्रकृति की होती है इसलिए इसे मासिक धर्म के दौरान उपयोग ना करें व जिन महिलाओं को मासिक धर्म जल्दी आता हो वह भी इसके इस्तेमाल में एहतियात बरते।
  4. जिन लोगों में पहले से ही पित्त दोष है और जो ज्यादा गर्मी को बर्दाश्त नहीं कर पाते उन्हें भी इसका सेवन बहुत कम मात्रा में करना चाहिए अन्यथा यह नुकसानदायक सिद्ध हो सकती है।
  5. गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन कतई नहीं करना चाहिए।
तो दोस्तों देखा आपने कलौंजी किस तरह हमारे स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करती है। लेकिन हमें इसके इस्तेमाल में सावधानी रखने की भी जरूरत है क्योंकि कुछ कुछ स्थितियों में यह हमें लाभ देने की बजाय नुकसान दे जाती है। इसलिए पहले से इसके बारे में पूरी जानकारी पढ़कर ही कलौंजी का इस्तेमाल करें।

निष्कर्ष:--

आज की इस पोस्ट में हमने कलौंजी के फायदे और नुकसान के बारे में जाना। इस पोस्ट में हमने आपको कलौंजी के सभी फायदों के बारे में बताया। यह हमारे आंखों के लिए, बालों के लिए, ह्रदय से जुड़ी बीमारियों में, कैंसर में, डायबिटीज को ठीक करने में, वजन घटाने में, त्वचा को जवां बनाए रखने में तथा हमारी स्मरण शक्ति बढ़ाने में काफी मददगार है। अगर आप भी Kalonji ka fayda पहले नहीं जानते थे तो इस पोस्ट को पढ़कर अब आप Kalonji ke fayde से वाकिफ हो गए होंगे। हम उम्मीद करते हैं कि आप इस जानकारी का सही इस्तेमाल करके कलौंजी के इन प्रयोगों को करके अपने स्वास्थ्य को अच्छा बनाएंगे। दोस्तों आज की यह पोस्ट आपको कैसी लगी यह आप हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं। साथ ही अगर इस पोस्ट से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो वह भी आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछें और यदि इस पोस्ट के लिए कोई सुझाव है तो वह भी हमें बताएं ताकि इस पोस्ट को हम आपके लिए और बेहतर बना सके। फिर मिलते हैं दोस्तों इसी तरह की कुछ और नई जानकारी लिए हुए हमारी अगली बेहतरीन पोस्ट में, तब तक के लिए बाय बाय, अलविदा, धन्यवाद।

Disqus Comments