Thursday, August 13, 2020

india ka full form | इंडिया की फुल फॉर्म क्या है?

India ka full form


हेल्लो दोस्तों!!
एक बार फिर से स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट All hindi tip पर। दोस्तों आज इस पोस्ट में हम एक बहुत ही खास विषय पर चर्चा करेंगे जो काफी कम लोग जानते हैं। आज हम जानेंगे इंडिया की फुल फॉर्म के बारे में। वैसे तो इंडिया के कई सारे नाम है लेकिन अगर बात करें India ka full form की तो यह काफी कम लोग जानते हैं। अगर आप भारतीय हैं तो अवश्य ही आपको भारत का निवासी होने पर गर्व होगा। और गर्व हो भी क्यों ना, भारत की संस्कृति एवं इतिहास देश के दूसरे देशों से काफी अलग हैं।
आप जानते होंगे कि आज से करीब 300 साल पहले भारत काफी समृद्ध देश था जिसे दुनिया में काफी सम्मान के साथ देखा जाता था और भारत को "सोने की चिड़िया" नाम से जाना जाता था। भारत की इस भूमि ने न जाने कितने महान व्यक्तियों को जन्म दिया है। आर्यभट्ट, स्वामी विवेकानंद, महात्मा गांधी, अब्दुल कलाम जैसे कई बुद्ध पुरुष इसी भारत मां की धरती से जन्मे है। अगर जनसंख्या की दृष्टि से देखें तो पूरे विश्व में भारत दूसरा नंबर पर आता है और आने वाले समय में पहले नंबर पर स्थित चीन को भी जनसंख्या के मामले में पीछे छोड़ने वाला है। हर एक भारतवासी को अपने भारतीय होने पर गर्व है। खेल के मैदान में भारत की टीम को सपोर्ट करके उनका हौसला बढ़ाना हो या फिर सीमा पर देश की रक्षा के लिए जान गंवाना हो हम अपने देश के लिए हर समय तैयार रहते हैं।
भारत को हिंदुस्तान के नाम से भी पुकारा जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारत का हिंदुस्तान नाम कैसे पड़ा? दरअसल हिंदुस्तान शब्द बना था हिंदू से और हिंदू शब्द संस्कृत के सिंधु शब्द से लिया गया था। यूनानियों के समय में सिंधु एक नदी हुआ करती थी जिसके दूसरे तरफ के हिस्से को यूनानियों ने इंडोई नाम दिया। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर India ki full form इंडिया की फुल फॉर्म क्या है? क्योंकि यह अक्सर इंटरव्यू में या GK के प्रश्न में पूछा जाता है। तो आज हम आपको इसी सवाल का जवाब देंगे। आइए जानते हैं कि India ka full form kya hai.

ये भी पढ़ें :
Sim ka full form
Resume kaise banaye

India ka full form इंडिया की फुल फॉर्म


दोस्तों अगर असल में देखा जाए तो ऑफीशियली इंडिया की कोई फुल फॉर्म नहीं है। दरअसल सिंधु नदी को ही इंडस नदी के नाम से भी जाना जाता था जिसे यूनानी भाषा में Hindush लिखा जाता था लेकिन इसका उच्चारण Indus था। इसी Indus शब्द से भारत का नाम इंडिया हुआ। विश्व के सात महाद्वीपों में से एशिया महाद्वीप के दक्षिणी भाग में भारत बसता है।
क्षेत्रफल की दृष्टि से देखा जाए तो यह विश्व के सभी देशों में सातवें नंबर पर आता है और जनसंख्या की दृष्टि से दूसरे नंबर पर आता है। इसकी अधिकारिक रूप से कोई फुल फॉर्म नहीं है लेकिन आपको इंटरनेट पर इंडिया की काफी फुल फॉर्म मिल जाएगी जो लोगों द्वारा बनाई गई है। इंडिया की इन फुल फॉर्म को पढ़कर आपको काफी मजा आएगा और इससे यह भी पता चलता है कि हम भारतीय लोग कितने ज्यादा रचनात्मक हैं और हमने भारत का बखान करने के लिए इंडिया की एक बहुत ही अच्छी और मजेदार फुलफार्म बनाई है। इंडिया की कुछ रोचक फुल फॉर्म निम्न है जो लोगों द्वारा बनाई गई है।
I – Independent
N – National
D – Democratic
I – Intelligent
A – Area
I – Independent
N – Nation
D – Declared
I – In
A – August
यहां हमने आपको इसकी कुछ बनाई हुई फुल फॉर्म के बारे में जिक्र किया है लेकिन इन्हें इंडिया की ऑफिशल फुल फॉर्म नहीं समझना चाहिए। असल में इंडिया की कोई फुलफॉर्म ही नहीं है।

भारत के और क्या क्या नाम है?


दोस्तों भारत के कुछ और नाम भी है जिनमें से हिंदुस्तान, भारत, इंडिया नाम तो सभी जानते हैं। लेकिन आज हम आपको भारत के कुछ ऐसे नामों से परिचित करवाएंगे जो आपने पहले नहीं सुने होंगे। अगर हम इंडिया का मैप देखें तो भारत का आकार हमें भारत मां के रूप में दिखाई देता है जिसका मुख जम्मू कश्मीर है। उत्तर में अटल हिमालय है और दक्षिण में जिसके चरण खुद हिंद महासागर धो रहा है। वहीं इसके दक्षिण-पश्चिम में अरब सागर है और दक्षिण - पूर्व में बंगाल की खाड़ी है। भारत के इस नक्शे के हिसाब से भी इसे कई सारे नाम दिए गए हैं जो कि निम्न है।

1. आर्यव्रत

दरअसल यह भारत का काफी प्राचीन नाम है। पहले के समय में उत्तर भारत को आर्यव्रत नाम से जाना जाता था और दक्षिण भारत को द्रविड़ नाम से जाना जाता था।

2. भारतवर्ष

सबसे पहले भारतवर्ष नाम विष्णु पुराण में देश को संबोधित करने के लिए लिया गया था। यह नाम हिमालय पर्वत के दक्षिण में स्थित क्षेत्र के लिए इस्तेमाल होता था और हिंद महासागर के उत्तर के क्षेत्र के लिए इसे भारतम कहा जाता था। जहां भरत के वंशज रहते थे उस स्थान को भारतवर्ष नाम दिया गया।

3. हिन्द

यह शब्द भी भारत को संबोधित करने के लिए ही इस्तेमाल किया जाता था। दरअसल यह फारसी शब्द सिंध से लिया गया है जिसे फारसी भाषा में हिन्द नाम से उच्चारित किया जाता था।

4. हिन्दुस्तान

यह नाम भारत को मुगलों ने दिया है। जब 11वीं शताब्दी में मुगल भारत की ओर आए थे तब उन्होंने भारत पर जीत हासिल करके इसे हिंदुस्तान नाम दिया था।

5. जम्बूद्वीप

हिंदू, जैन और बौद्ध धर्म के कई ग्रंथों में भारत के लिए जंबूद्वीप नाम दर्शाया गया है जिसका अर्थ होता है जंबुल वृक्षों की भूमि।

6. इंडिका

यह नाम एक यूनानी इतिहासकार मेगास्थनीज ने अपनी रचना इंडिका में भारत के लिए इस्तेमाल किया था। इस रचना में उन्होंने मौर्य साम्राज्य के बारे में लिखा है व भारत के लिए इंडिका शब्द का प्रयोग किया था।

7. सोने की चिड़िया


यह नाम स्वतंत्रता संग्राम में भारत के स्वतंत्रता सेनानियों ने अपनी मातृभूमि के लिए दिया था। उन्होंने भारत को सोने की चिड़िया नाम अपने देश की उच्च एवम् समृद्ध संस्कृति को दर्शाने के लिए दिया था।

8. भरत

कहीं-कहीं भारत को भारतवर्ष के संक्षिप्त रूप भरत के रूप में भी दर्शाया गया है। जहां भरत (वैदिक युग के राजा) के वंशज रहते थे उस स्थान के लिए भरत शब्द प्रयोग में लिया जाता था।

तो दोस्तों यह थे वे सारे नाम जो भारत को उसके प्राचीन एवं समृद्ध इतिहास से मिले हैं। इन नामों को हम में से काफी कम लोग ही जानते हैं। इस पोस्ट को पूरा पढ़ लेने के बाद अब आपको अपने सभी प्रश्नों के जवाब मिल गए होंगे। जैसा कि हमने आपको बताया कि इंडिया की फुल फॉर्म ऑफिशियल कुछ भी नहीं है। अगर कोई कहता है कि वह इंडिया की फुल फॉर्म जानता है तो आप यही समझिएगागा कि वह एक बनी बनाई फुल फॉर्म है क्योंकि आधिकारिक रूप से इंडिया की फुल फॉर्म है ही नहीं।

निष्कर्ष:--

आज इस पोस्ट में हमने जाना India ka full form के बारे में। यहां हमने आपको India ki full form से जुड़ी हर जानकारी देने की कोशिश की है। साथ ही हमने आपको भारत के कई अन्य नामों के बारे में भी जानकारी दी। अगर इस पोस्ट की जानकारी आपको पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी अवश्य शेयर करें। यदि इस पोस्ट से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो वह आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। फिर मिलेंगे दोस्तों इसी तरह की कुछ और रोचक जानकारी लिए हुए हमारी अगली बेहतरीन पोस्ट के साथ, धन्यवाद!

Disqus Comments